व्यक्ति का स्वभाव पर जन्मतिथि का प्रभाव (Know the nature of people according to their date of birth )

प्रतिपदा से लेकर अमावस तक जन्मतिथियों का एक चक्र होता है, जिस तरह से अंग्रेजी तिथि में 1 से 30 या 31 तारीख का दिन होता है।ज्योतिषशास्त्र में सभी तिथियों का अपना एक महत्व होता है। सभी तिथि अपने आप में विशिष्ट होती है।हमारे व्यवहार और स्वभाव पर तिथियों का काफी असर  पड़ता है।हमारा जन्म जिस तिथि में होता है, उसके अनुसार हमारा व्यवहार होता है।

Read More

This entry was posted in Astrology On .

वास्तु के कुछ लाभकारी टिप्स. ( Few Beneficial Vastu Tips)

ये हैं वास्तुशास्त्र के कुछ लाभकारी टिप, जो आपकी जिन्दगी बदल देंगे:

[1] मुख्य द्वार के पास कभी भी कूड़ादान नहीं रखें इससे पड़ोसी दुश्मन हो जायेंगे |

Read More

This entry was posted in Astrology On .

Vastu tips for Sleeping ( नींद आने के ज्योतिष/ वास्तु उपाय )

जीवन मे समय समयपर ज्योतिष गृह नींद को भी प्रभावित करते है, कम नींद हमारी शारीरिक सेहत, मानसिक, बर्ताव और कार्य आदि प्रभावित करती है।पर्याप्त नींद नहीं लेने पर नकारात्मक असर आपके मस्तिष्क पर ज्यादा प्रभाव डालता है। जी हां, नींद की कमी आपके दिमाग को बुरी तरह से प्रभावित करती है।वैज्ञानिकों द्वारा कई शोध के अनुसार जो व्यक्ति लगातार नींद की कमी से जूझते हैं, उनके दिमाग में संकुचन अधि‍क होता है और वे लोग पूरी तरह से दिमाग का इस्तेमाल नहीं कर पाते।

Read More

This entry was posted in Astrology On .

विवाह में क्या आवश्यक है गुण मिलान ( Why Gun Milan is important before Marriage ) ?

विवाह योग्यकन्या हो या वर । जब उनके घर कोई अच्छा रिश्ता आता है, तो घर के वरिष्ठ परिजन उनकी कुंडली तथा गुणमिलवाते हैं। यह गुण किसी विद्वान ज्योतिषी द्वारा देखी जाती है। वह तय करते हैं कि कन्या के गुण वर से मिल रहे हैं या नहीं।ज्योतिष के अनुसार कहा जाता है कि गुण 36 होते हैं जिसमें से कम से कम 16 गुण मिलना जरूरी होता है। अमूमन यह प्रश्न आम लोगों के मन में जरूर उठता होगा किक्या विवाह के पहले कुंडली या गुण मिलान करना जरूरी है? इस प्रश्न का सटीक उत्तर है ‘हां’। कुण्‍डली मिलान में एक ज्‍योतिषी इस बात की कोशिश करता है कि विवाह के पश्चात् संबंधों को तोड़ने वाली स्थितियों से  बचा जाए। इसलिए यह बहुत जरूरी है।

Read More

This entry was posted in Astrology On .

Sun Transit from Aries (Mesh) to Taurus (Vrishabh)

 

In Vedic astrology, the Sun is designated as the King of the Nine Planets (Navagrahas) as it is the central force around which the planets revolve and controls all their transits and movements. This is why it plays a vital role in one’s horoscope. In one’s horoscope, the Sun represents father, authority and power, henceforth it is also known as the father factor.

Read More

This entry was posted in Astrology On .